बिपरजॉय तूफान ने मचाई तबाही अब राजस्थान की तरफ बढ़ा

बिपरजॉय तूफान के बारे मे

बिपरजॉय तूफान ने अब तक गुजरात में भारी तबाही मचाई है मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार साइक्लोन का स्टेटस वेरी सीरियस है जो राजस्थान में आते-आते सीरियस में परिवर्तन होने की संभावना हैं और इस दौरान 95 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल रही है और तूफान के साथ-साथ कई इलाकों में भारी बारिश भी देखने को मिल रही है गुजरात में तूफान ने लाइट के खंभों और पेड़ों को भारी नुकसान पहुंचाया है इसी को देखते हुए गुजरात सरकार ने लोगों को घरों में रहने की अपील की है वह बाहर नहीं जाए और सुरक्षित जगह में रहे । गुजरात के कई इलाकों में बिपरजॉय तूफान का भारी असर देखने को मिला हैं तेज हवाओं के साथ हो रही बारिश ने गुजरात में लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हर तरफ पानी पानी नजर आया और समंदर में ऊंची ऊंची लहरे उठती दिखाई दी। तूफ़ान की वजह से शुरू हुई बारिश रुकने का नाम नहीं ले रही है हर तरफ बारिश ही बारिश की वजह से वहां की विजिबिलिटी भी बंद हो गई है हर तरफ धुंध ही धुंध छाई हुई है तेज हवा के साथ बारिश और भारी गर्जना हो रही है और हवा की रफ्तार में इतनी तेज है कि वहां पर सीधे खड़े रहना भी मुश्किल हो रहा है तेज रफ्तार हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है और समंदर उफान पर है उधर गुजरात के गिर सोमनाथ में भी बिपरजॉय तूफान ने भारी तबाही मचाई। इसका सबसे ज्यादा असर समुंदर के किनारे बसे इलाकों में देखने को मिला । जहां तूफान के आने से पहले ही समंदर की लहरों ने आस पास के इलाकों में तबाही मचानी शुरू कर दी इन लहरों ने समंदर किनारे बने घरों में ऐसे टक्कर मारी कि वह देखते ही देखते पानी में समा गए । समंदर का यह भयंकर रूप कई दूसरे इलाकों में भी देखने को मिला खौफनाक लहरों के साथ वहां पर तेज हवाएं से तटीय इलाकों में भारी नुकसान देखने को मिला है हालांकि बिपरजॉय तूफान को देखते हुए प्रशासन ने वहां से पहले ही मकानों को खाली करवा दिया था

एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की कई टीमें तैनात कर दी गई है

जिनके गिरने की संभावना थी इसके साथ ही वहां पर एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की कई टीमें तैनात कर दी गई है इसके साथ ही भारी हवा और तूफान की वजह से ओखा बंदरगाह पर कोयले के ढेर में आग लग गई जिससे वहां पर भारी नुकसान हुआ है यह मंजर इतना भयानक था कि एक तरफ पानी में ऊंची ऊंची लहरें उठ रही थी वहीं दूसरी तरफ ओखा बंदरगाह पर आग की लपटें उठ रही थी और देखते ही देखते कोयले का ढेर का राख में बदलने लगा था आग को देखते हुए बड़ी संख्या में फायर ब्रिगेड की गाड़ियां मौके पर पहुंची लेकिन तेज हवाओं की वजह से आग पर काबू पाना मुश्किल हो गया और एक के बाद एक कोयले के कई ढेरों में भयंकर आग लग गई और कड़ी मशक्कत के बाद वहां पर आग पर काबू पाया गया बताया जा रहा है कि भारी बारिश की वजह से वहां पर बिजली गिरने से कोयले के ढेर में आग लग गई यह कोयला के ढेर वहां पर बिजली बनाने के काम में आते हैं
बिपरजॉय तूफान को देखते हुए तटीय इलाकों से लोगों को पहले ही सुरक्षित जगह पर पहुंचा दिया गया था ।

बिपरजॉय तूफान का रुख राजस्थान की तरफ

वही बता दे कि गुजरात में भारी तबाही मचाने के बाद अब बिपरजॉय तूफान का रुख राजस्थान की तरफ हो चला है और इसे लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की आपदा के लिए बनाई गई सभी टीमों को अलर्ट पर रहने के लिए कहा गया है
मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि जहां पर तूफान आने की संभावना है उन जिलों के जिला प्रशासन को मुस्तैद रहने के लिए निर्देशित किया है
आपको बता दें इसका असर राजस्थान के जालौर, बाड़मेर, जैसलमेर, जोधपुर में देखने को मिल सकता हैं जिसे देखते हुऐ प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है अनुमान है 16और 17 जून को इसका असर राजस्थान में सर्वाधिक देखने को मिलेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *